rahu-ketu-transit-2022-2023

Rahu-Ketu Transit 2022:राहु-केतु ने बदली चाल, इन 5 राशि वालों की 18 महीने के लिए बढ़ेंगी मुश्किलें

राहु-केतु के राशि परिवर्तन का प्रभाव सभी 12 राशियों पर पड़ता है। राहु-केतु की चाल बदलने से कुछ राशि के जातकों के लिए मुश्किलें खड़ी हो सकती हैं। राहु-केतु का राशि परिवर्तन 12 अप्रैल 2022, मंगलवार को हो गया है। राहु मेष राशि में और केतु तुला राशि में गोचर कर चुके हैं। इन दोनों ग्रहों का राशि परिवर्तन 12 अप्रैल की सुबह 10 बजकर 35 मिनट पर हुआ। इन दोनों ग्रहों के राशि परिवर्तन का असर सभी 12 राशियों पर पड़ेगा। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार, राहु-केतु के राशि परिवर्तन से पांच राशि वालों की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। जानिए आने वाले 18 महीने किन राशि वालों को रहना होगा संभलकर-

मेष– मेष राशि के लिए राहु पहले भाव में और केतु सप्तम भाव में गोचर कर चुका है। इस राशि के जातकों को अपने रिश्तों के प्रति सावधान रहने की जरूरत है। इस समय आपको वित्तीय परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। हालांकि कुंडली में ग्रहों की स्थिति अच्छी होने पर इन राशि के जातकों को गोचर काल में समस्याओं का कम सामना करना पड़ेगा।

तुला– तुला राशि वालों के लिए राहु सप्तम भाव और केतु प्रथम भाव में गोचर करेगा। इस दौरान आपको सेहत, आर्थिक पक्ष और रिश्ते में ज्यादा सावधानी बरतने की जरूरत है। इस दौरान गुरु और शनि ग्रह अपनी शुभ स्थिति में नहीं रहने वाले हैं। शनि चौथे घर में स्थित होंगे व देवगुरु बृहस्पति छठवें भाव में स्थित होगा। ऐसे में इस दौरान आपके लिए परेशानियां खड़ी हो सकती हैं।

धनु– धनु राशि वालों के लिए राहु-केतु पंचम और एकादश भाव में गोचर किया है। पंचम भाव में राहु की स्थिति धनु राशि वालों के लिए मुश्किलें खड़ी करने वाली होगी। इस दौरान भविष्य की असुरक्षा और चिंता को लेकर परेशानी हो सकती है। इस दौरान धन हानि होने की आशंका रहेगी। गोचर काल में निवेश करने से बचें।

मकर– मकर राशि के लिए राहु-केतु चौथे और दशम भाव में हुआ है। केतु का राशि परिवर्तन आपके लिए अनुकूल नहीं रहने वाला है। राहु का गोचर आपके लिए मुश्किलों लेकर आ सकता है। इस दौरान आपको पारिवारिक समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। आर्थिक स्थिति में उतार-चढ़ाव आ सकते हैं।

मीन– मीन राशि वालों के लिए राहु-केतु दूसरे और आठवें भाव में गोचर किया है। ग्रहों के गोचर से मीन राशि वालों को प्रतिकूल परिणाम मिल सकते हैं। अगर व्यक्ति की कुंडली में राहु-केतु की स्थिति अच्छी नहीं होती है, तो इस दौरान उधार या खर्च से आपकी मुश्किलें बढ़ा सकते हैं। इस राशि के लोगों को गोचर काल में सावधान रहने की सलाह दी जाती है।

Leave a Reply